भारत

जीडीपी की वृद्धि दर तीन साल के निचला स्तर पर पहुंच गई

पहली तिमाही में विकास दर गिरकर 5.7%, तीन साल के निचले स्तर पर चालू वित्त वर्ष की जून में खत्म हुई तिमाही के दौरान जीडीपी की वृद्धि दर तीन साल के निचला स्तर पर पहुंच गई
खास बातें

8 कोर सेक्टर में विकास दर घटकर 2.4% हुई
वित्त वर्ष की चौथी तिमाही के दौरान इसकी वृद्धि दर 6.1 फीसदी थी
लगातार तीसरी तिमाही में नोटबंदी का असर दिखाई दिया

नई दिल्ली: चालू वित्त वर्ष की जून में खत्म हुई तिमाही के दौरान देश के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) की वृद्धि दर में गिरावट दर्ज की गई और यह वित्त वर्ष 2016-17 की चौथी तिमाही के 6.1 फीसदी से घटकर 5.7 फीसदी पर आ गई. यह इसका तीन साल का निचला स्तर है. आधिकारिक आंकड़ों से गुरुवार को यह जानकारी मिली. इसी बीच वित्त मंत्री अरुण जेटली ने कहा कि जीडीपी में गिरावट चिंता की बात है. उम्मीद है कि अगली तिमाही में दर बेहतर होगी.

केंद्रीय सांख्यिकी कार्यालय (सीएसओ) द्वारा जारी आंकड़ों के मुताबिक चालू वित्त वर्ष की पहली तिमाही में जीडीपी 5.7 फीसदी की वृद्धि दर के साथ 31.10 लाख करोड़ रुपये रही, जबकि पिछले वित्त वर्ष की चौथी तिमाही के दौरान इसकी वृद्धि दर 6.1 फीसदी थी. विनिर्माण गतिविधियों में सुस्ती के बीच लगातार तीसरी तिमाही में नोटबंदी का असर दिखाई दिया.

About the author

Related Posts

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.