भारत

खून से भर गया था बाथरूम,मां ने बताई बेटी के हत्या

खून से भर गया था बाथरूम,मां ने बताई बेटी के हत्या वाले दिन की कहानी

पलासिया क्षेत्र के गीता नगर में रहने वाली प्रिया व उसकी मां किरण पर आरोपी अमित ने घर में घुसकर हमला किया था।

इंदौर।शहर में 27 सितंबर 2016 को हुए दिलदहला देने वाले हादसे को एक साल हो गया है। महू के सनकी आशिक सॉफ्टवेयर इंजीनियर अमित यादव ने गीता नगर में रहने वाली 16 साल की स्टूडेंट प्रिया रावत की चाकू से गोदकर हत्या कर दी थी। लड़की बन फेसबुक पर दोस्ती करने वाले अमित की हकीकत जब प्रिया को पता चली तो उसने उसे ब्लॉक कर दिया था। अमित बात करने के बहाने घर आया और प्रिया पर चाकू से 12 वार किए थे। अमित अभी जेल में है और उसका केस चल रहा है।पढ़ें, मां किरण की जुबानी दर्दभरी पूरी कहानी …

– मां किरण ने बताया कि हत्या के करीब सवा महीने पहले प्रिया रोज की तरह कोचिंग से घर आई। वह बहुत सहज थी। तभी मैंने उसे बताया कि अमित नाम का लड़का आया था। अमित का नाम सुनते ही प्रिया गुस्सा हो गई। मैंने पूछा- क्या हुआ और उसे कैसे जानती हो? उसने कहा- मां वह लड़का फ्रॉड है।

– फेसबुक पर लड़की बनकर उसने मुझसे चैटिंग की और दोस्ती बढ़ाई। जब उसने मुझे बताया कि वह लड़का है तो मैंने उसे बुरी तरह डांट दिया। मैं उससे बात नहीं करती। बेटी को गुस्से में देख मैंने उसे समझाया कि इतना गुस्सा नहीं करते। हमें उससे कोई झगड़ा भी नहीं करना है। जो हुआ उसे भूल जाओ..।
– इसके बाद मेरी प्रिया से उस लड़के को लेकर कभी कोई बात नहीं हुई। प्रिया पढ़ाई के प्रति बहुत गंभीर थी। इसलिए वह मोबाइल भी नहीं रखती थी। 27 सितंबर की सुबह करीब 7.30 बजे मेरे मोबाइल पर उस लड़के ने कॉल किया। उसने कहा- आंटी, प्रिया मुझसे बात नहीं कर रही है।

– मैं कारण नहीं समझ पा रहा हूं। मुझे हेडेक होता है। प्रिया ऐसा क्यों कर रही है? मैं परेशान हूं। बस पांच मिनट प्रिया से बात करना है। मैंने उसे मना किया, लेकिन फिर वह बोला कि पांच मिनट में आपका क्या बिगड़ जाएगा? मैंने सोचा आज आमने-सामने बात करके उसे समझा दूंगी, ताकि आगे कोई परेशानी नहीं हो।
– मैंने उससे कहा- तुम आ जाओ, लेकिन बात दरवाजे के बाहर से ही करेंगे। करीब तीन घंटे बाद 10.30 बजे वह लड़का हमारे घर आया। दरवाजा मैंने ही खोला। उसे वहीं रुकने को कहा, लेकिन वह गिड़गिड़ाया कि वह बैठकर बात करना चाहता है। पांच मिनट में चला जाएगा। मैंने उसे घर में आने दिया।

– प्रिया उसे देख गुस्सा हुई। लड़का अचानक बाथरूम में चला गया। तब तक प्रिया बाहर के कमरे में आ गई। वह बाथरूम से बाहर आया और प्रिया पर पीछे से अटैक कर दिया। मेरी बेटी चीखी-चिल्लाई कि मां इसे भगाओ। ये हमें मार डालेगा, लेकिन वह चाकुओं से वार करता रहा। बिटिया खुद को बचाने के लिए बाथरूम में बंद हो गई..।

– मैं बेटी को बचाने दौड़ी तो मुझे भी चाकू मारे। घर में खून ही खून हो गया। चीख सुनकर आस-पड़ोस के लोग दौड़े। वह भागने लगा, लेकिन पकड़े जाने के डर से वह दूसरी मंजिल की गैलरी से नीचे कूद गया। मेरी बच्ची ने जब बाथरूम नहीं खोला तो लोगों ने उसे तोड़ दिया। कहते हैं पूरा बाथरूम खून से भर गया था..। मां उस पल को याद करते हुए कहती हैं, काश मैं उस हत्यारे को घर में नहीं घुसने देती..।

 

इंजीनियर छात्र ने फेसबुक पर की थी दोस्ती
– पलासिया क्षेत्र के गीता नगर में रहने वाली प्रिया व उसकी मां किरण पर आरोपी अमित ने घर में घुसकर हमला किया था। अमित इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहा है, वहीं मृतका 12वी में पढ़ रही थी और आईआईटी की तैयारी कर रही थी। अमित व प्रिया की फेसबुक के जरिए दोस्ती हुई थी। इसके बाद अमित प्रिया से एकतरफा प्यार करने लगा था।
– प्रिया को यह बात पसंद नहीं आई और उसने अमित से दोस्ती तोड़ दी थी। इससे गुस्साया अमित प्रिया के घर पहुंचा और मां किरण की आंखों के सामने उस पर चाकू से 14 वार किए। पेट में चाकू लगने से प्रिया ने मौके पर ही दम तोड़ दिया, वहीं उसकी मां किरण को गंभीर हालत में एमवाय अस्पताल में भर्ती कराया गया था। घटना के बाद आरोपी ने भी दूसरी मंजिल से कूदकर सुसाइड की कोशिश की थी। उसे भी गंभीर हालत में इलाज के लिए एमवाय अस्पताल में भर्ती कराया गया था।

About the author

Related Posts

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.