UttarPradesh, भारत

बीएचयू: महिला आयोग की टीम आज करेगी सुनवाई!

बीएचयू: महिला आयोग की टीम आज करेगी सुनवाई!

विकास पाठक, वाराणसी
पिछले दिनों बनारस हिंदू विश्वविद्यालय (बीएचयू) में हुई छेड़छाड़ की घटना और छात्राओं पर लाठीचार्ज के बाद आज महिला आयोग की टीम सुनवाई करेगी। इसी के साथ हिंसक आंदोलन के बाद शांत दिख रहे बीएचयू में हलचल बढ़ गई है। न्यायिक जांच आयोग के बाद अब राष्ट्रीय महिला आयोग की टीम बुधवार की रात बनारस पहुंची।

तीन सदस्यीय टीम बीएचयू कैंपस के लक्ष्मण दास गेस्ट हाउस में सुनवाई करेगी। छात्राओं से पूरे घटनाक्रम के बारे में बातचीत संग प्रशासन का भी पक्ष जांच टीम जानेगी। छेड़खानी की घटना के बाद सुरक्षा की मांग को लेकर धरना दे रहीं छात्राओं पर 23 सितम्बर की आधी रात लाठीचार्ज की घटना को लेकर बीएचयू से लेकर जिला प्रशासन चौतरफा दबाव में है। न्याायिक आयोग, मजिस्ट्रेट जांच और क्राइम ब्रांच की जांच के बाद अब राष्ट्रीय महिला आयोग की जांच का सामना प्रशासन को करना पड़ेगा।

बनारस पहुंची महिला आयोग की टीम में कार्यकारी अध्येक्ष रेखा शर्मा के अलावा एडवोकेट प्रियंका मेघा और लीगल एडवाइजर गीता शामिल हैं। सर्किट हाउस में रुकी टीम गुरुवार की सुबह ही बीएचयू कैंपस में पहुंच घटनास्थल को देखने के साथ लाठीचार्ज के समय मौके पर मौजूद रहीं छात्राओं से अलग-अलग बातचीत करेगी। टीम लीडर रेखा शर्मा ने मीडिया से बातचीत में बताया कि मामले की तह तक जाने की कोशिश करने संग छात्राओं पर जबरन थोपी गई बंदिशों के बारे में जानकारी की जाएगी। डिटेल रिपोर्ट में दोषियों के खिलाफ कार्रवाई पर फोकस होगा। ऐसी घटना फिर कहीं न हो, इस बारे में मिले सुझावों को भी रिपोर्ट में शामिल किया जाएगा।

इस बीच कांग्रेस के सांसद महाबल मिश्रा बुधवार की शाम अस्सी, घाट पर बीएचयू छात्रों की ‘पंचायत’ में पहुंचे। इस दौरान महाबल मिश्रा ने कहा, ‘जेनविन समस्या को लेकर धरना-प्रदर्शन कर रहीं छात्राओं पर बर्बर लाठीचार्ज की घटना ने पूरे देश को कलंकित किया है। देश का सभ्य समाज आज दुखी और कुंठित है।’ उन्होंने आगे कहा, ‘हर छोटी बड़ी घटना पर प्रतिक्रिया देने वाले बनारस के सांसद पीएम नरेंद्र मोदी की इस मसले पर चुप्पी संवेदनहीनता को दर्शाती है। भगवा विचारधारा से दूर रहने वाले छात्राओं पर हत्या के प्रयास का मुकदमा दर्ज किए जाने की जितनी निंदा की जाए कम है।’ उन्होंने कुलपति प्रफेसर जीसी त्रिपाठी द्वारा गठित न्याायिक जांच समिति को भंग कर मामले की जांच हाईकोर्ट या सुप्रीम कोर्ट की रिटायर्ड महिला जज से कराने की मांग की।

सुभासि नी अली भी पहुंची
इस बीच सीपीआई नेता सुभासिनी अली भी बनारस पहुंची हैं। उन्होंने आनंद पार्क में बीएचयू के छात्र-छात्राओं संग गुप्त बैठक की। इस बैठक की जानकारी प्रशासन तक को नहीं थी। बैठक के बाद उन्होंने कहा कि बीएचयू में लड़कियां अपने आप को सुरक्षित महसूस नहीं समझती, जो आज सबसे बड़ा सवाल है।

About the author

Related Posts

Leave a Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.